खेल-खेल में गई बच्ची की जान

देश-विदेश

आवाज न्यूज़ | नोएडा 

खेल-खेल में एक दस साल की बच्ची की जान चली गई। बच्ची खेलते वक्त एक कमरे में गई और कमरा अंदर से बंद कर खिड़की से चुन्नी बांधकर उसका फंदा गले में लगा लिया, परिजन उसे मेट्रो हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

दस वर्षीय बच्ची मानसी ने ग्राउन्ड फ्लोर के एक कमरे में जाकर दरवाजा अंदर से बंद कर लिया और फिर उसने कमरे की खिड़की से चुन्नी को बांधकर उसका फंदा गले में लगाकर आत्महत्या कर ली।

इस पूरे मसले पर परिजनों का कहना है कि जब कुछ देर तक मानसी नहीं दिखाई दी, तब उसकी तलाश की गई. वह कमरे में बंद थी. फिर दरवाजे को बाहर से कई बार धक्का देने से कुंडी खुल गई. भीतर मानसी अचेत पड़ी थी और उसके गले में चुन्नी का फंदा लगा था. उसे तुरंत सेक्टर-11 के मेट्रो अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

वहीं पुलिस का कहना है की नोएडा के सैक्टर-12 के मकान ए-21 में प्रवीन कुमार रावत अपने परिवार के साथ रहते हैं. मकान के ग्राउन्ड फ्लोर पर उनका परिवार जबकि पहली मंजिल पर उनकी मां और बड़े भाई का परिवार रहता है. प्रवीन रावत की दो बेटियां 10 साल की मानसी और 12 वर्षीय बड़ी बेटी सोनल हैं.

मानसी एसीसी कान्वेंट स्कूल में कक्षा 5 और सोनल 6 में पढ़ती हैं. मंगलवार की सुबह दोनों बहनें खेल रही थीं. कुछ देर बाद सोनल पहली मंजिल पर अपनी दादी के पास चली गई. लेकिन, मानसी ने ग्राउन्ड फ्लोर पर बने एक कमरे में जाकर दरवाजा भीतर से बंद कर लिया और खिड़की से चुन्नी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस भी इस घटना के पीछे के कारणों के बारे में कुछ भी बताने में असमर्थ है।
हालांकि पड़ोसियों का कहना है कि दोनों बहनों में टीवी के रिमोट को लेकर लड़ाई हुई थी. उसी के बाद मानसी ने आत्महत्या की है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *