नशेड़ियों और लफंगों से सख्ती से निपटेंगे, सभी अपराधी जेल के भीतर होंगे- एसडीपीओ

आवाज स्पेशल

अज़हर रहमानी। किशनगंज

किशनगंज में नव पदस्थापित एसडीपीओ डॉ अखिलेश कुमार ने नशे के कारोबारियों, तस्करों और माफ़िया पर शिकंजा कसने का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया हैं। एक विशेष बातचीत में ‘किशनगंज की आवाज़’ को उन्होंने बताया कि नशे के कारोबार में शामिल वैसे लोग जो शराब से लेकर अफ़ीम, गांजे और स्मैक जैसे ख़तरनाक नशे का ज़हर किशनगंज के युवाओं के जीवन में घोल रहे हैं, अब जेल की सलाखों के पीछे होंगे।

पुलिस-पब्लिक रिलेशन को सुधारने की होगी पहल-

एसडीपीओ डॉ अखिलेश कुमार ने किशनगंज की जनता से अपील करते हुए कहा कि पुलिस जनता के सहयोग से ही बेहतर कार्य कर सकती है, इसलिए आम लोगो को भी पुलिस को मित्र की भांति समझते हुए अपने आसपास हो रहे घटनाओ की त्वरित जानकारी तुरंत साझा करना चाहिए। बेहतर पुलिस-पब्लिक समन्वय से समाज को अपराध मुक्त किया जा सकता हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों पूर्णिया के नव्या अपहरण कांड में किशनगंज पुलिस की भूमिका से जहाँ एक और आम लोगो का पुलिस पर विश्वास बढ़ा है, वही दूसरी ओर पुलिस की छवि में भी सुधार हुआ हैं।

क्या कहते है आपराधिक आंकड़े-

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों से जिले में चोरी और अपहरण जैसे अपराधों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली हैं। ‘किशनगंज की आवाज़’ के पास उपलब्ध आपराधिक आंकड़ो के अनुसार वर्ष 2015 में जहाँ चोरी की 177 घटनाये हुई थी वही वर्ष 2016 में यह आंकड़ा बढ़कर 288 और वर्ष 2017 में यह आंकड़ा 320 तक पहुंच गया। वर्ष 2018 के फरवरी माह तक चोरी के कुल 76 मामले दर्ज किए गए हैं।

जिले में बढ़े है किडनैपिंग के मामले-

वर्ष 2015 में जहाँ किडनैपिंग के 107 मामले दर्ज किए गए, वही वर्ष 2016 में 115 और वर्ष 2017 में 117 मामले दर्ज किए गए। वर्ष 2018 की फरवरी तक 21 किडनैपिंग के मामले दर्ज किए जा चुके हैं। हालांकि फिरौती की नीयत से किये गए अपहरणों की घटनाएं नगण्य हैं।

एसडीपीओ डॉ अखिलेश कुमार ने कहा कि जिले में अपराध पर जल्द ही लगाम लगाई जाएगी जो धरातल पर भी नज़र आएगा। उन्होने कहा कि किसी भी प्रकार के जुर्म को बर्दाश्त नही किया जाएगा। पीड़ितों को इंसाफ दिलाने का पूरा प्रयास किया जाएगा। पुराने लंबित मामलों का त्वरित निष्पादन करने को भी प्राथमिकता दी जाएगी। कानून-व्यवस्था बनाये रखना और अपराध नियंत्रण करना ही हमारी प्राथमिकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *